Wednesday, 20 May 2020

अशिक्षित का ह्रदय

0 comments

अशिक्षित का ह्रदय



1.  निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर एक या दो पंक्तियों में दीजिए_


(1) बूढ़े मनोहर सिंह का नीम का पेड़ किस के पास गिरवी था?

उत्तर:  बूढ़े मनोहर सिंह का नीम का पेड़ ठाकुर शिवपाल सिंह के पास गिरवी थाl




(2)   ठाकुर शिवपाल सिंह रुपए नाल उठाए जाने पर किस बात की धमकी देता है?
उत्तर:  ठाकुर शिवपाल सिंह बाल हटाए जाने पर पेड़ कटवा देने की धमकी देता हैl

(3)  मनोहर सिंह ने रुपए लौटाने की मोहलत कब तक की मांगी थी?
उत्तर:  मनोहर सिंह ने रुपए लौटाने की 1 सप्ताह की मोहलत मांगीl

(4)  नीम का वृक्ष किस के हाथ का लगाया हुआ था?
उत्तर:  नीम का वृक्ष मनोहर सिंह के पिता के हाथ का लगाया हुआ थाl

(5)  तेजा सिंह कौन था?
उत्तर:  तेजा सिंह गांव में रहने वाला 15 16 वर्ष का  बालक थाl

(6)  ठाकुर शिवपाल सिंह का कर्ज अदा हो जाने के बाद मनोहर सिंह ने अपने नीम के पेड़ के विषय में क्या निर्णय लिया?
उत्तर:  मनोहर सिंह ने अपना नीम का पेड़ सभी गांव वालों के सामने बालक तेजा सिंह के नाम कर दियाl

2.   निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर तीन या चार पंक्तियों में दीजिए_

(1) मनोहर सिंह ने अपने नीम के पेड़ को गिरवी क्यों रखा?
1.उत्तर:  मनोहर सिंह ने ठाकुर से कर्जा ले रखा थाl कर्ज समय पर वापस ना दे पाने के कारण मनोहर ने अपना नीम का पेड़ गिरवी रख दियाl

(2)  ठाकुर शिवपाल सिंह नीम के पेड़ पर अपना अधिकार क्यों जताते हैं?
उत्तर:  ठाकुर पेड़ पर अपना अधिकार इसीलिए जताते हैं क्योंकि मनोहर सिंह ने अपना कर्ज तय समय के अंदर वापस ना कियाl वह एक अन्य सप्ताह की मोहलत मिलने पर भी वह कर्ज वापस देने में असमर्थ रहाl

(3)  मनोहर सिंह ठाकुर शिवपाल सिंह अपने नीम के वृक्ष के लिए क्या आश्वासन चाहता था?
उत्तर:  मनोहर सिंह ठाकुर शिवपाल सिंह से अपने नीम के वृक्ष का यह आशवासन चाहता था कि वह उस पेड़ को कटवाए नहीं क्योंकि उसके हृदय की भावनाएं इस पेड़ से जुड़ी हुई थीl

(4)  नीम के वृक्ष के साथ मनोहर सिंह का इतना लगाव क्यों था?
उत्तर:  मनोहर सिंह का नीम के पेड़ से इसीलिए अनुराग था क्योंकि उसके पिता ने उसे अपने हाथों से लगाया थाl उसे पेड़ ने भाई की तरह हमेशा उसका साथ निभाया थाl

(5)  मनोहर सिंह ने अपना पेड़ बचाने के लिए क्या उपाय किया?
उत्तर:  अपना पेड़ बचाने के लिए मनोहर सिंह ने अपने पुराने तलवार निकालकर साफ़ की और पेड़ के पास खड़ा हो गया कि जो भी उस पेड़ को काटने आएगा, उसे उसके साथ युद्ध करना पड़ेगाl

(6)  मनोहर सिंह की किस बात से तेजसिंह प्रभावित हुआ?
उत्तर:  एक बार जब तेजसिंह ने मनोहर सिंह को बड़बढ़ाते हुए देखा तो उसे हैरान होकर मनोहर सिंह से पूछा कि वह किसके साथ बातें कर रहा हैl मनोहर सिंह के ने उसे अपनी सारी राम कहानी सुना दीl मनोहर सिंह का अपने पिता द्वारा लगाए पेड़ से इतना लगाव देखकर तेजसिंह बहुत प्रभावित हुआl

(7)  तेजा सिंह ने मनोज सिंह की सहायता किस प्रकार की?


3.  निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर 6_7 पंक्तियों में दीजिए_



(1) मनोहर सिंह का चरित्र चित्रण कीजिए?

1.उत्तर:  मनोहर सिंह का व्यक्तित्व प्रभावशाली हैl एक साधारण एवं गरीब व्यक्ति होते हुए गांव का जमीदार उसके सामने बौना लगता हैl मनोहर सिंह ने अपना सारा जीवन सेना की नौकरी करते हुए व्यतीत कर दिया है वह एक वीर एवं अभिभावक व्यक्ति हैl नीम के पेड़ के प्रति उसके मन में बहुत प्रेम हैlवह ठाकुर के आगे झुकता नहीं परंतु तेजा सिंह को बिना मांगे वह पेड़ दे देता हैl वह इस कहानी का नायक हैl

(2)  तेजा सिंह का चरित्र चित्रण कीजिए?
उत्तर:  तेजसिंह एक ग्रामीण बालक हैl एक किसान का पुत्र हैlउसमें बालकोचित सभी गुण विद्यमान हैl वह संवेदनशील पात्र है और मनोहर सिंह को चाचा कहकर पुकारता हैl नीम के पेड़ के प्रति मनोहर सिंह के स्नेह को देखकर अत्यधिक प्रभावित होता हैl मनोहर सिंह की मर्यादा और पेड़ की रक्षा के लिए घर से रुपए चुरा कर लाता है परंतु चोरी की पोल खुलने पर अपनी नानी द्वारा दी गई अंगूठी तक देने को तैयार हो जाता हैl

(3)  'अशिक्षित का ह्रदय' कहानी का क्या उद्देश्य है?
उत्तर:   अशिक्षित का हृदय' कहानी में प्रकृति के साथ मनुष्य के भावात्मक सबंध को दर्शाया गया हैl इसमें कर्ज से होने वाले नुकसान के बारे में बताया हैl इस कहानी से यह शिक्षा दी गई है कि हमें प्रकृति से प्रेम करना चाहिए और सदा सच्चाई और मानवीय भावनाओं का सम्मान करना चाहिएl