Wednesday, 7 October 2020

पाठ 05 शायद यही जीवन है

0 comments

पाठ – 5       शायद यही जीवन है

1). 
इन प्रश्नों के उत्तर एक या दो वाक्य में लिखिए:-

1. 
लेखिका ने आंगन में क्या देखा?
उत्तरलेखिका ने आंगन में  घोंसले में लाल रंग के छोटे-छोटे चार अंडे देखे थे |

2. 
चिड़िया का रंग - रूप कैसा था?
उत्तरछोटी सी चंचल, जैतूनी हरी चिड़िया जिसके नीचे के अंग सफेदजंग जैसे रंग की शिखा, दुम में दो सुई की तरह नोकीले पर, जो तन कर खड़े रहते हैं |

3. 
चिड़िया के कितने बच्चे थे?
उत्तरचिड़िया के चार बच्चे थे |

4. 
बच्चे भोजन की मांग किस प्रकार करते थे?
उत्तरबच्चे भोजन की मांग के लिए अपनी खुली चोंच को बार-बार ऊपर की और उठाते हैं |


5.   
घोंसला नीचे मिट्टी में कैसे गिर गया?
उत्तरघोंसले से जुड़े 2 पत्तों में से 1 पत्ते के टूट जाने के कारण घोंसला दूसरे पत्ते के सहारे उल्टा लटक रहा थाघोंसले में से 2 बच्चे भी लटक रहे थे तो दो नीचे मिट्टी में अचेत अवस्था में गिरे पड़े थे |

6. 
लेखिका ने घोसले को ऊपर की टहनी पर बांधने का निश्चय क्यों किया ?
उत्तरयदि लेखिका डिब्बा  घर के भीतर लाती तो इनकी मां इने ढूंढती रहती | काफी सोच-विचार के बाद लेखिका को घोसले को पुन : शाखा पर बांधने का उपाय सूझा |


7. 
बच्चे अपनी मां से संपर्क कैसे स्थापित करते थे ?
उत्तरबच्चे अपनी मां से चीं - चीं कर कर संपर्क स्थापित करते थे |

8. 
तीन बच्चे मुक्त हो गए थे परंतु  चौथा बच्चा क्यों नहीं मुक्त हो पाया ?
उत्तर :   चौथा बच्चा इसलिए नहीं मुक्त हो पाया था क्योंकि अब वह छोटा था |

9. 
लेखिका चौथे बच्चे के भी उड़ जाने पर उदास क्यों हो गई?
उत्तर :   लेखिका बहुत उदास थी तभी  उसके हाथों का स्पर्श करती हुई  बेटी बोली , "मां कोई बात नहीं वह चिड़िया का बच्चा उड़ गया तो क्या मैं हूं ना आप की नन्ही सी चिड़िया आपके पास |

10. '
जीवन परिवर्तन शील है | ' इस तथ्य के बारे में आप कोई उदाहरण लिखो |
उत्तरमुक्त जीवन की चाह में जीवन की परिवर्तनशीलता को समझने का यही एक मूलमंत्र है शायद यही जीवन है |

2). 
इन प्रश्नों के उत्तर चार या पांच वाक्य में लिखिए:-

1. 
चिड़िया, घोंसला , अंडे , बच्चे - इनके द्वारा जीवन की परिवर्तनशीलता उद्भासित होती है | क्या आपको मानव जीवन में भी ऐसी ही परिवर्तनशीलता दिखाई देती है | कोई दो उदाहरण देकर समझाएं |

2. 
चिड़िया के बच्चों की प्रत्येक गतिविधि पक्षी जगत की स्वभागवत विशेषता को प्रकट करती है | किसी एक गतिविधि को ध्यान से देखकर लिखें |